Dhanteras 2024 : जानिये क्या नहीं खरीदना चाहिए धनतेरस पर?

By | April 16, 2024
dhanteras

Dhanteras par kya nahi kharidna chahaiye, Dhanteras par shopping ka rakhe khas khyal, Dhanteras par kyun na kharide inn saamaan ko ?

Dhanteras ko kya nahi kharide : दिवालीके पहले लोग पुष्य नक्षत्र और धनतेरस पर विशेष खरीदी करते हैं। इस दिन को खरीदी के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है। मगर आप इस दिन कुछ जरुरी वस्तु खरीद रहे है तो आप इन् चीज़ो का ध्यान जरूर रखे जिससे आपका नुकसान होने से बच जायेगा। और अगर आपने इन सामान को ख़रीदा तो नकारात्मकता आपका पीछा नहीं छोड़ेगी।

Dhanteras par kya nahi kharidna chahaiye, Dhanteras par shopping ka rakhe khas khyal, Dhanteras par kyun na kharide inn saamaan ko

धनतेरस पर नहीं खरीदने चाहिए ये चीजें / The Things Not To Buy On Dhanteras

लोहा (Iron)

लोहे को शनि का धातु माना जाता है और धनतेरस (Dhanteras) दिन इसे नहीं खरीदना चाहिए वरना आपके घर दुर्भाग्य का प्रवेश हो सकता है।

एलुमिनियम (Aluminium)

एल्युमीनियम एक मिश्रित धातु है और कई मान्यता के अनुसार इस धातु में मिश्रित धातुओं में राहु की धातु माना जाता हैं, इसलिए धनतेरस के दिन इसे खरीदने से दुर्भाग्य निर्मित हो जाता है।

स्टील (Steel)

स्टील भी एक तरह का लोहा ही है इसलिए इसे नहीं खरीदना चाहिए।

प्लास्टिक (Plastic)

कहते है की धनतेरस के दिन प्लास्टिक खरीदने से घर में बरकत में कमी होती है।

काँच (Glass)

काँच या काँच से बना सामान और बर्तन भी नहीं लेना चाहिए। इससे राहु घर में प्रवेश कर जाता है।

काले कपडे (Black Cloths)

धनतेरस के दिन काले या गहरे कपडे ना पहने और ना ख़रीदे क्यों की हमारे धर्म में काले रंग को शुभ नही माना जाता हैं।

तेल / घी

कहते है की धनतेरस के दिन तेल और घी दोनों ही नहीं खरीदना चाहिए, इससे बरकत नहीं रहती।

चीनी के बर्तन

धनतेरस के दिन चीनी के बर्तन खरीदना भी शुभ नहीं माना जाता है क्यों की इसे बीच लोग बरकत से जोड़ कर देखते है।

धनतेरस के शुभ मुहूर्त: / Dhanteras ke Shubh muhurt

तेरस की तिथि:-

त्रयोदशी तिथि प्रारम्भ – 29 October 2024 को दोपहर 12:35 से।

त्रयोदशी तिथि समाप्त – – को दोपहर 01:57 पर।

दोस्तों, इस उम्मीद है आपको इस आर्टिकल से जानिये क्या नहीं खरीदना चाहिए धनतेरस पर यह जानकारी जरुर मिली होगी। अगले आर्टिकल में हमने खाटू श्याम चालीसा (Khatu Shyam Chalisa) का वर्णन किया है। कृपया आप उसे भी जरूर रीड करे।

Disclaimer: यह जानकारी इंटरनेट सोर्सेज के माध्यम से ली गयी है। जानकारी की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। धर्मकहानी का उद्देश्य सटीक सूचना आप तक पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता सावधानी पूर्वक पढ़ और समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इस जानकारी का उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी। अगर इसमें आपको कोई गलती लगाती है तो कृपया आप हमें हमारे ऑफिसियल ईमेल पर जरूर बताये।

चेक फेसबुक पेज

बहुत- बहुत धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *