Yamuna Aarti 2023 : यमुना जी की आरती करने से होंगे ये फायदे जाने महत्त्व !

By | September 20, 2023
Yamuna Aarti hindi

Yamuna Aarti, Yamuna ki aarti, Yamuna Aarti Hindi lyrics, Yamuna Aarti Lyrics, Yamuna aarti Labh, Yamuna English Aarti Lyrics, Yamuna Stuti

यमुना जी भी माँ गंगा की तरह पाप नाशिनी नदी हैं। माँ गंगा में स्नान करने से जो पुण्य मिलता हैं यमुना जी के दर्शन मात्र से मनुष्यो का कल्याण होता हैं। जिस तरह हरिद्वार काशी के तट पर गंगा आरती की जाती हैं वैसे ही यमुना के तट पर यमुना विशाल यमुना आरती की जाती हैं दूर दूर से लोग इस यमुना आरती में शामिल होने किया जाता हैं। कही भक्त को गिरिराज चालीसा भी यमुना तट पड़ते हैं। जिससे भगवान कृष्ण के स्वरुप ही तो हैं गिरिराज बाबा।

Yamuna Aarti Important यमुना आरती का महत्त्व 

यमुना आरती का बहुत महत्त्व होता हैं।  कार्तिक मास में यमुना आरती का विशेष महत्त्व होता हैं कियुकी कहा जाता हैं की माँ यमुना  मृत्यु के देवता यमराज की बहन हैं। इसीलिए यमुना के स्नान से मनुष्यो को सभी रोगों से मुक्ति मिलती हैं। यमुना जी भगवान श्री कृष्ण की पटरानी जी भी हैं। इसलिए उनकी पूजा अर्चना व आरती करने से भगवान कृष्ण भी प्रशन्न होते हैं और अपना विशेष आशीर्वाद भी भक्तों को देते हैं। 

॥ Yamuna Aarti Hindi Lyrics : यमुना आरती ॥

Yamuna Ki Aarti Lyrics in Hindi – यमुना जी  की आरती 

यमुना आरती

ॐ जय यमुना माता, हरि जय यमुना माता

जो नहावे फल पावे सुख दुःख की दाता

ॐ जय यमुना माता

पावन श्रीयमुना जल अगम बहै धारा,

जो जन शरण में आया कर दिया निस्तारा

ॐ जय यमुना माता

जो जन प्रातः ही उठकर नित्य स्नान करे,

यम के त्रास न पावे जो नित्य ध्यान करे

ॐ जय यमुना माता

कलिकाल में महिमा तुम्हारी अटल रही,

तुम्हारा बड़ा महातम चारो वेद कही

ॐ जय यमुना माता

आन तुम्हारे माता प्रभु अवतार लियो,

नित्य निर्मल जल पीकर कंस को मार दियो

ॐ जय यमुना माता

नमो मात भय हरणी शुभ मंगल करणी

मन बेचैन भया हैं तुम बिन वैतरणी

ॐ जय यमुना माता।।

॥ Shri Yamuna Stuti Hindi ॥

Shri Yamuna Stuti Hindi

॥ English Lyrics Yamuna Aarti ॥

Jai jai Shri Yamuna maa,  Jai jai Shri Yamuna (2)

Jotaan janam sudharyo, dhanya dhanya shri  Yamunaa

Maa Jai jai Shri Yamuna     1

Shyamaladi surat ma(2), murat maadhuri

Prem sahita patrani (2), paraakrame poora

Maa Jai jai Shri Yamuna   2

Gahevara van chalya maa (2) gambheere gheryaa

Chundadiye chatakalya maa, paheryaa ne laherya

Maa Jai jai Shri Yamuna   3

Bhuja kankana ruda maa (2) gujareeyaa choodee

Baajubandha ne berakhaa  maa, pahonchee ratna jadee

Maa Jai jai Shri Yamuna   4

Jhaanjarane Jhamke maa(2) vichheeyaane thamake ,

Nepoorane naade maa, Ghughari ne ghamake

Maa Jai jai Shri Yamuna   5

Sole Shangar sajya maa, (2) nakavesara moti,

Aabharanamaan opo chho, darpana mukh jotaan

Maa Jai jai Shri Yamuna   6

Tata antara ruda maa(2), shobhita jal bhariya

Manvanchita murlidhar, sundar vara variyaan

Maa Jai jai Shri Yamuna   7

Laala kamala lapatyaa maa, (2) jovaane gyaataa,

Kahe ‘Madhava’ parikrammaa, Shree vraj ni karavaane gyaataa

Maa Jai jai Shri Yamuna   8

Shree Yamunaji ni aarti, vishraama ghaate thaaya (2)

Tetrees karore devataa maa (2), darshan karva jaay,tyaan pushp ane vrushti thaay

Maa Jai jai Shri Yamuna    9

Shree Yamunaji ni aarti, je koi gaashe, maa je bhave gaashe,

tenaa janam janam na paapo, sarve door thaashe, teno vraj ma vaasa thaashe

Maa Jai jai Shri Yamuna  10

Aatli vinanti karu Maa, tam charane raakho Maa (2)

Daas karine stapo, Vraj ma vaas aapo

Maa Jai jai Shri Yamuna 11

Jai jai Shri Yamuna maa,  Jai jai Shri Yamuna (2)

Jotaan janama sudharyo, dhanya dhanya shri Yamuna

Maa Jai jai Shri Yamuna 12

Khatu Shyam Aarti 

Shani Dev Ki Aarti

धर्मकहानी :- धर्म कहानी पर हम धर्म से जुडी जानकारी आपके साथ साझा करते हैं। यह सत्य कोई नहीं नकार सकता की इस कलयुग में भक्ति ही एक ऐसा मार्ग है जो हमें मुक्ति दिला सकता हैं इसीलिए हम सनातन धर्म की रक्षा के लिए आपके साथ भगवान की लीलाये , चालीसा , आरती तथा कहानियाँ साझा करते हैं। यदि आप भी धर्म से जुडी कोई जानकारी जानना चाहते हैं कमेंट में जरूर बताये। धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *